Skip to main content

Unknown differences between Hinduism and Islam


Hinduism
ऐसे अनेक तथ्य हैं  जिनसे  समाज में भ्रम फैलाया जा रहा है, जैसे कि हिन्दुओं में यह भ्रम है कि हिन्दुओं के ३३ करोड़ भगवान हैं लेकिन असलियत में हिन्दू धर्म में ३३ प्रकार के देवी - देवताओं के होने गयी है |

हिन्दू धर्म और इस्लाम में जमीन आसमान का अंतर है | कुछ अंतर यहाँ दिए गए हैं |

  • हिन्दू धर्म में देश और मातृभूमि को सर्वोच्च स्थान दिया जाता है, इस्लाम में धर्म से बड़ा कुछ नहीं |
  • हिन्दू अपने  भगवान् को किसी भी तरह से मान सकते हैं, अक्सर हिन्दू अपने धर्म का मजाक भी उड़ा देते हैं, इस्लाम में ऐसा करना खतरनाक है |
  • हिन्दू धर्म अन्य धर्मों का विरोध नहीं करता और दूसरे धर्मों को अपनाने की पूरी स्वतंत्रता देता है लेकिन दूसरे धर्मों का सम्मान गलत है और यह एक पाप है |
  • हिन्दू धर्म नास्तिक (ईश्वर को ना मानने वाला) बनने की स्वतंत्रता देता है, इस्लाम में नास्तिक होना पाप है |
  • हिन्दू धर्म एक परम "ईश्वर के अनेक रूप" को मानता है, इस्लाम "केवल और केवल एक ईश्वर" को मानता है |
कुरान (3:56)
जो मुझमें आस्था नहीं रखते, मैं उन्हें घोर यातना के साथ सजा दूंगा,
और उनकी मदद करने वाला कोई नहीं होगा ||

भगवदगीता (18 :63)
कृष्ण (अर्जुन से)- मैंने तुम्हे संसार का संपूर्ण ज्ञान दिया है, इस पर विचार करो,
फिर जैसा चाहते हो वैसा करो ||

  • इस्लाम १५०० साल पुराना है, जबकि हिन्दुओं का सबसे प्राचीन ज्ञात (known) ग्रन्थ ऋग्वेद १०००० साल से भी ज्यादा पुराना है |
इस्लाम-  औरत को कष्ट देने और सताने से तुम जन्नत में जाओगे |

हिंदुत्व- "यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते रमन्ते तत्र देवताः,"
(जहाँ नारी की पूजा होती है वहां देवता प्रसन्न होते हैं)

इस्लाम- मुस्लिम अपने धर्म में गलतियां नहीं निकल सकते और ना ही  बोल सकते हैं|

हिंदुत्व- अगर हिन्दू को अपने धर्म में कुछ गलत लगता है तो उसे सुधार करने की पूरी स्वतंत्रता है |

--> हिन्दुओं मुस्लिमों में एक समानता भी है, दोनों की २०६ हड्डियां होती है |

Related Posts-